What is Motherboard in Computer? (कम्प्यूटर में मदरबोर्ड क्या है?)

मदरबोर्ड क्या है मदरबोर्ड कितने प्रकार का होता है मदरबोर्ड के क्या क्या फंक्शन होते है और इसके कंपोनेंट्स कोन कोन से होते है मदरबोर्ड के बारे में ये सभी चीजे आप इस पोस्ट में पढ़ने वाले हैं आइए सबसे पहले जानते है मोडरबोर्ड क्या है


कंप्यूटर मदरबोर्ड क्या है? (What is motherboard in computer?)

मदर बोर्ड (Motherboard) किसी जटिल इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम; जैसे - आधुनिक कंप्यूटर का केन्द्रीय या मुख्य सर्किट बोर्ड होता है। इसे मुख्य बोर्ड (Mainboard), बेस बोर्ड (Baseboard), सिस्टम बोर्ड (System board) या लॉजिकल बोर्ड (Logic board) भी कहा जाता है। मदरबोर्ड पर चिप के कनेक्टिंग पॉइंट्स को सॉकेट कहते है।

किसी मदरबोर्ड का मुख्य उद्देश्य सिस्टम के विभिन्न अवयवों को आपस में जोड़ने के लिए आवश्यक इलेक्ट्रॉनिक और लॉजिकल कनेक्शन उपलब्ध कराना होता है। एक सामान्य डेस्कटॉप कम्प्यूटर उसके मदरबोर्ड में माइक्रोप्रोसेसर, मुख्य मैमोरी और अन्य अनिवार्य अवयव लगाकर बनाया जाता है।


मदरबोर्ड को सीपीयू पीसीबी (प्रिंटेड सर्किट बोर्ड) के  एक टुकड़े पर डिजाइन किया गया है। जिसमें रैम स्टोर, सीपीयू एक्सपेंशन स्लॉट और सभी प्रमुख घटक है। मेन बोर्ड कम्प्यूटर सिस्टम में प्राइमरी डिवाइस है। क्योंकि इसका प्रयोग हर घटक केबल और तारों द्वारा का उपयुक्त कर जुड़ा हुआ है। और इस लिए इसे व्यक्तिगत कम्प्यूटर सिस्टम के ऋण के रूप में भी जाना जाता है।

इनके अलावा बहुत से अन्य अवयव; जैसे - उपकरण, वीडियो कंट्रोलर, साउंड कंट्रोलर, बाहरी इनपुट /आउटपुट उपकरण आदि मदरबोर्ड के साथ किसी कनेक्टर या केबल के माध्यम से जोड़े जाते हैं।
आइए कुछ मदरबोर्ड के बारे में जानते है

*AT (Advance Technology) motherboard: 


यह पुरानी salling logic board है। जिसमें AT form है। इन लजिक बोर्डो को IBM के द्वारा 80 के दशक में निर्मित किया गया था। वे लंबे समय तक PC हार्डवेयर दुनिया पर हावी थी। वे आकार में बहुत बड़ा और अल्प मदरबोर्ड के मुकाबले लगाया डबल आकार के होते थे।

 उस समय यह सबसे नई तकनिकी और घटको का आकार फिट करने के लिए होती थी। इसके पास सीपीयू रैम स्लॉट, 10 पिन बिस्लिंग, कनेक्टर, कीबोर्ड और सीरियल, माउस, कनेक्टर के साथ एक्सपेंशन स्लॉट (PCI and ISA) के लिए PGA (Pin grid Array Socket) है।

*Baby AT Motherboard:


इनके पास AT और XT (Expended Technology) फॉर्म कारक दोनों विशेषताएं है। इन मुख्य बोर्डो में PGA, प्रोसेसर सॉकेट, रैम और DDK रैम स्लॉट्स पिन और 20 pins कनेक्टर है। जिसमें BIM और serial mouse code नामक keyboard है।


जैसे जैसे कम्प्यूटर हार्डवेयर उपयोग में छोटे कम्प्यूटर की मांग बढ़ी निर्माता काफी विकसित हुवे और छोटी लॉजिक बोर्डो का निर्माण किया और स्थापना के लिए छोटे स्थान कि आवश्यकता थी। AT form factor के साथ AT मदरबोर्ड स्थापना के लिए भारी आकार कम्प्यूटर केबिन की आवश्यकता होती है। इसलिए Baby AT नामक छोटे कम्प्यूटर का निर्माण किया गया।

*Full ATX:


उन्नत प्रौद्योगिकी के लिए ATX है, इन मदरबोर्ड में भी ATX form कारक की विशेषताएं है इनका विकास इंटेल द्वारा सन 1995 में हुआ था। इनके पास MPG, CPU Socket Ram के लिए DIMM Slot एक्सपेंशन स्लॉट IDE कनेक्टर है। इसमें पोर्ट्स और कनेक्टर के साथ 12 P और 20 P power उपलब्ध है।
"दूसरे रूप में मदरबोर्ड पूरे सिस्टम का प्राइमरी कंपोनेंट्स है। इनके सपोर्ट के बिना सीपीयू कार्य करने में अक्षम है।"

आइए अब मदरबोर्ड कंपोनेंट्स के फंक्शन्स के बारे में जानते है

मदरबोर्ड के कंपोनेंट्स और उनके कार्य (Function of Motherboard Componets)

मदरबोर्ड पर निम्न कंपोनेंट प्रयोग में लाए जाते है
1. प्रोसेसर सॉकेट (Processor Socket Centre)


प्रोसेसर सॉकेट आपके मदरबोर्ड के केंद्र (center) का हिस्सा होता है। यह कंप्यूटर को दिए गए किसी भी इनपुट को प्रोसेस करता है। विभिन्न प्रकार के सॉकेट का प्रयोग विभिन्न प्रकार के प्रोसेसर के लिए किया जाता है। इसमें छेद होते है जिसमें प्रोसेसर के  पिन स्थापित होते है।

आजकल अधिकतर सॉकेट का उपयोग LGA (Land Gird Array Architectute) पर बनाया गया है, जहां pins सॉकेट पर पहले से उपलब्ध रहती हैहर सॉकेट का आकार अलग अलग और pin की संख्या में अंतर होता है


2. पावर कनेक्टर (Power Connector)


कम्प्यूटर का कोई भी हिस्सा बिना पावर के नहीं चल सकता इसलिए पावर कनेक्टर होना बहुत जरूरी होता है। पावर कनेक्टर कुछ पीनों का बना होता है। इसमें 20 - 24 पिन होती है और यह कम्प्यूटर मदरबोर्ड में दाई ओर होता है। यहां पावर लेता है और कंप्यूटर के बाकी हिस्सों को पावर देता है।

3.मेमोरी स्लॉट्स (Memory Slots)


मेमोरी स्लॉट को मदरबोर्ड में ऊपर से दाई ओर लगाया जाता है। यह कंप्यूटर कि प्रत्येक मैमोरी के मॉड्यूल को संभालता है। प्रत्येक कम्प्यूटर में अलग अलग मैमोरी स्लॉट काम करते हैं। आज कल के नए कम्प्यूटर में DDR3 का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन आज भी कुछ कम्प्यूटरों में DDR1 और DDR2 के मैमोरी स्लॉट पर काम किया जाता है।

4. वीडियो कार्ड स्लॉट (Video Card Slot)


यह कम्प्यूटर में वीडियो को चलाने में मदद करता है। यह मदरबोर्ड में नीचे दाईं ओर लगा होता है। यदि आपके मदरबोर्ड में वीडियो कार्ड स्लॉट नहीं है, तो आप अपने कम्प्यूटर में वीडियो चला नहीं पाएंगे। आज कल कई मदरबोर्ड में एक से एक ज्यादा वीडियो कार्ड स्लॉट भी लगे होते हैं ताकि उन कम्प्यूटर में हाई क्वालिटी के गेम चल सकते हैं।

5. एक्सपेंशन स्लॉट (Expansion Slot)


इस स्लॉट की सहायता से हम अपने कम्प्यूटर में कोई भी सॉफ्टवेयर इंस्टाल कर सकते हैं। जैसे कि यदि कम्प्यूटर में टीवी टुनर या वीडियो कैप्चर कार्ड इत्यादि सॉफ्टवेयर डाले तो वे इसी स्लॉट की मदद से आपके कम्प्यूटर में इंस्टाल हो पाते हैं। यह मदरबोर्ड में वीडियो कार्ड स्लॉट के ठीक नीचे लगा होता है।

6. BIOS चिप और बैटरी (BIOS Chip and Battery)


यह चिप कम्प्यूटर के बूट प्रोसेस से आधारित कोड को लेती है और उसे कम्प्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम तक ले जाती है, इसलिए इसे पॉवर देने के लिए बैटरी से जोड़ा जाता है और यह कम्प्यूटर के अनप्लग (Unplug) होने पर भी काम करती है।


7. North Bridge


यह सीपीयू में मेमोरी और दूसरे बहुत महत्वपूर्ण घटक के बीच कम्युनिकेशन संभालता है जो North ब्रिज कंट्रोलर के रूप में जाना जाता है।


8. PCI Express :

 इसे PCIE के रूप में भी जाना जाता है ये Addon कार्ड के समर्थन लिए मदरबोर्ड का नवीनतम और सबसे तेज घटक है यह duplex serial bus का समर्थन करता है।

9. AGP slot (Accelerated Graphics port)


यह विशेष रूप से एक नवीनतम ग्राफिक्स कार्ड उपयोग किया जाता है AGP 32 Bit Bus पर चलता है।


10. IDE Connector


इंटेग्रेटेड ड्राइव इलेक्ट्रॉनिक IDE कनेक्टर का उपयोग डिस्क ड्राइव को इंटरफेस करने के लिए किया जाता है। 40 fit main कनेक्टर का उपयोग IDE Hard Disk Drive को जोड़ने के लिए किया जाता है। और वो 34 Fit men कनेक्टर Floppy डिस्क से कनेक्ट रहता है।


11. SATA(Serial Advance Technology Atechment) Connector


नवीनतम श्रृंखला में कनेक्टर sata हार्ड डिस्क या ऑप्टिकल ड्राइव को इंटरफेस करने के लिए seven pin  कनेक्टर है। SATA का ट्रांसफर रेट 500mb प्रति सेकेंड (500mb/sec) होता है।


12. Cabinat कनेक्शन :


जिस कैबिनेट में मदरबोर्ड स्थापित होता है उसमे कई बटन होते है जो मदरबोर्ड से जुड़ते है कुछ common कनेक्टर है- power switch, Reset switch, Front USB, Front ऑडियो इत्यादि है।


Post a Comment

0 Comments