SSL क्या है? इसका Full form और यह कैसे काम करता है?

SSL क्या है SSL का FULL FORM क्या होता है या जिनको पता है कि SSL क्या SSL का FULL FORM क्या होता है उन लोगो के दिमाग में ये सवाल आता होगा की SSL आखिर कैसे काम करता है? 

कितने TYPES के होते है? इनका USE क्या होता है? और SSL का सर्टिफिकेट क्यों जरूरी है किसी वेबसाइट के लिए और कहां से खरीदे इन सभी सवालों के जवाब आपको सरल भाषा में इस लेख में मिलने वाला है। अंत तक पढ़ते रहिए।

चलिए सबसे जानते है कि SSL का FULL FORM क्या होता है? और SSL क्या है?

SSL का Full Form




1. SSL का FULL FORM क्या होता है?

SSL: SECURE SOCKET LAYER


2. SSL क्या है? What is SSL?

SSL एक इनक्रिप्शन प्रोटोकॉल है, जो इंटरनेट में इस्तेमाल किया जाता है। ये प्रोटोकॉल इंटरनेट ब्राउज़र और वेबसाइट के मध्य एक सुरक्षित संपर्क प्रदान करता है, जो एक वेबसाइट से प्राइवेट डेटा को दूसरी वेबसाइट के साथ सुरक्षित रूप में ट्रांसफर करने के लिए इंटरनेट यूजर्स को अनुमति देता है। 

आज के समय में लगभग सभी वेबसाइट SSL का इस्तेमाल कर रही है, जिससे वे अपने ग्राहकों और उनके द्वारा किए जा रहे ऑनलाइन Transactions को प्राइवेट कर सकें। 

इसके इस्तेमाल से customer का डेटा चुराना हैकर के लिए नामुमकिन अर्थात संभव नहीं होगा।

अधिकांश वेब ब्राउज़र SSL का समर्थन करते हैं और कई वेबसाइटें क्रेडिट कार्ड नंबर सहित गोपनीय जानकारी प्राप्त करने के लिए इस प्रोटोकॉल का उपयोग करती हैं। SSL कनेक्शन URL https के साथ आरंभ होता है न कि http के साथ।

SSL दो मशीनों, आमतौर पर एक वेब या मेल सर्वर और क्लाइंट सिस्टम के मध्य कनेक्शन को सुरक्षित करने के लिए Public Key और Symmeteic Key इंकृप्शन के सयोंजन का उपयोग करते हैं, जो इंटरनेट या किसी अन्य TCP/IP नेटवर्क पर संचार करता है।

SSL क्लाइंट और सर्वर पर रन हो रही प्रोसेस के मध्य भेजे गए डेटा को इंकृप्ट करने और प्रमाणीकृत करने के लिए एक Mechanism प्रदान करता है।



3. SSL कैसे काम करता है (How Does SSL Works?)


जब कोई वेब ब्राउज़र SSL का प्रयोग करके किसी वेबसाइट से कनेक्ट करने का प्रयास करता है, तो ब्राउज़र सर्वप्रथम सर्वर से स्वयं को पहचान का अनुरोध करेगा, जिसके लिए ब्राउज़र को SSL प्रमाण पत्र की एक प्रति भेजने के लिए वेब सर्वर को संकेत देता है। 

ब्राउज़र यह जांचता है कि क्या SSL प्रमाण पत्र विश्वसनीय है। यदि SSL विश्वसनीय है तो  ब्राउज़र वेब सर्वर पर मैसेज भेजता है। 

सर्वर तब इनक्रिप्शन शुरू करने के लिए डिजिटल हस्ताक्षरित एक्नॉलेजमेंट के साथ ब्राउज़र को रिस्पॉन्स देता है। देख सकते हैं कि आपका ब्राउजिंग अब https के साथ आरंभ होता है न कि http के साथ।


4. SSL का उपयोग | What is USe of SSL?

यदि आप ब्लॉगिंग करते है तो अपने डोमेन जरूर पर्चेस किया होगा उस वक़्त आपको डोमेन के साथ SSL सर्टिफिकेट लेने के लिए भी ऑप्शन दिया होगा। 

यह आपके ब्लॉग को सिक्योर बनाता है यदि आप कोई ईकॉमर्स वेबसाइट बनाते है या किसी भी ईकॉमर्स साइट से कुछ खरीदते है तो आपको यूआरएल में एक लॉक का सिम्बोल दिखता होगा वहीं SSL सर्टिफिकेट होता है. 

इसका उपयोग वेबसाइट सिक्योर करने के साथ ईमेल आदि में भी क्या जाता है। और एक बात आपको ध्यान रखने की जरूरत है जब भी आप किसी वेबसाइट से ऑनलाइन प्रोडक्ट्स buy करते हैं तो आपको यह जरूर देखना चाहिए कि वह साइट SSL सर्टिफिकेट से सिक्योर है या नहीं। तभी आपको अपना जानकारी उसमे देना चाहिए।


5. SSL सर्टिफिकेट कहां से खरीदे?


वैसे तो काफी सारे कंपनी है जो SSL सर्टिफिकेट की सर्विस प्रदान करती है जिसमें से कुछ के नाम Bigrock, Godaddy, Hostgator etc. है. 

जब हम अपनी वेबसाइट के लिए किसी कंपनी से होस्टिंग सर्वर खरीदते है तो उसी समय हमें SSL सर्टिफिकेट लेने का भी ऑप्शन मिलता है जो उनके द्वारा ही प्रोवाइड की जाता है। जिसके लिए हमें कुछ पेमेंट देने होते है।


6. SSL के प्रकार (Types of SSL)


SSL के आपको बहुत से प्रकार मिलेंगे वह इस पर निर्भर करता है कि वह किस प्रकार का साइट है यदि वह नॉर्मल ब्लॉग है तो उसके लिए सस्ते भी use करते है और वहीं बड़ी कंपनी साइट्स महंगे SSL भी use करते हैं।

(1) Wildcard SSL सर्टिफिकेट:

यह एक ऐसा SSL सर्टिफिकेट है जिसकी मदद से किसी डोमेन और साथ में सभी sub-Domain को सिक्योर कर सकते है। जिसके साथ में डोमेन और ऑर्गनाइजेशन वालिडेशन भी मिलता है. 


(2) Multi-Domain (SAN) SSL सर्टिफिकेट:

इस SSL सर्टिफिकेट की मदद से आप 250 डोमेन को सिक्योर कर सकते है, जिसमें आपको यहां डोमेन वलिडेशन, ऑर्गनाइजेशन वल्डिशन और यहां पर एक और चीज एक्सटेंड Validation भी मिलता है।


(3) EV SSL सर्टिफिकेट:

इस SSL सर्टिफिकेट को बिजनेस के लिए लिए बनाया गया है जिसमें यह आपके वेब ब्राउज़र के एड्रेस बार को ग्रीन कर डेटा है और आपका बिजनेस नाम भी दिखता है। यह SSL सर्टिफिकेट highly recognized और एन्क्रिप्ट SSL सर्टिफिकेट है।


(4) डोमेन Validated SSL:

यह SSL एक मीडियम लेवल का सुरक्षा प्रदान करता है इसका उपयोग ज्यादातर छोटे मोटे ब्लॉग करते है।


(5) ऑर्गनाइजेशन validation SSL: 

यह एक ऐसा SSL है जो जिसका उपयोग ऑनलाइन बिजनेस को वेरिफाई और उसको सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जाता है। जिससे कस्टमर को यह पता चलता है कि वे किसी सिक्योर वेबसाइट में विजिट किए हैं।


(6) कोड Singing सर्टिफिकेट:

यह एक ऐसा SSL है जिसकी मदद से आप अपने सॉफ्टवेर के कोड को सुरक्षित रख सकते है और आपके फाइल्स और एप्लिकेशन को सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।


(7) मल्टी Domain Wildcard SSL सर्टिफिकेट:

यदि आप बहुत सारे वेबसाइट को run करते है तो आप इस  SSL का use कर सकते है यह 250 डोमेन और उनके सारे sub-Domains को सिक्योर  रखने का काबिलियत रखता है।

Post a Comment

0 Comments