B.Com full form: B.com कोर्स क्या है और B.com से सम्बंधित जानकारी

B.com क्या है B.com का full form क्या होता है। B.com कोर्स की duration कितनी होती है। B.com कोर्स कैसे करे, इसे करने के लिए क्या eligibility की आवश्यकता होती है। 

ऐसे सवाल आपके दिमाग में है और आपको इन सवालों के जवाब मालूम नहीं है और जानना चाहते हैं तो रीडिंग कंटिन्यू रखिए B.Com से रिलेटेड  आपके सवालों के जवाब मै इस पोस्ट में आपको देने वाला हूं।

तो चलिए ज्यादा टाइम न गवाते हुवे शुरू करते हैं तो सबसे पहले ये जानते हैं कि 

 B.com full form क्या होता है?


B.Com - (Bachelor of Commerce) बैचलर ऑफ़ कॉमर्स

B.com का full form बैचलर ऑफ कॉमर्स होता है

बीकॉम (B.com) क्या है?

B.com एक डिग्री कोर्स है। वे स्टूडेंट्स जो कॉमर्स स्ट्रीम से स्टडी करते हैं। यह एक महत्वपूर्ण कोर्स है इसमें  कॉमर्स स्ट्रीम के विद्यार्थी B.com सब्जेक्ट से कॉलेज कंप्लीट करते हैं। यह कॉमर्स के स्टूडेंट्स का स्नातक की डिग्री है। 

B.Com कोर्स में स्टूडेंट्स को अकाउंटिंग, इकोनोमिक, मार्केटिंग, मैनेजमेंट, बिजनेस, व्यवसायिक गणित जैसे विषयों पर पढ़ाया जाता है। 

वे स्टूडेंट्स जो साइंस स्ट्रीम में एडमिशन लेने के लिए सक्षम नहीं होते है उनके लिए यह एक अच्छा कैरियर स्ट्रीम सब्जेक्ट होता है। B.com के बाद आप M.com , MBA और CA जैसे कोर्स को कर सकते हैं।

B.com कोर्स के लिए पात्रता क्या क्या होती है?

B.com में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले आपको 12th में कॉमर्स सब्जेक्ट चुनकर पास होना पड़ेगा, तभी आप B.com में एडमिशन ले सकते हैं। यदि आप साइंस से है तो भी आप कॉमर्स सब्जेक्ट चुन सकते हैं और B.com में आसानी से एडमिशन ले सकते हैं 

पर जो स्टूडेंट्स आर्ट्स स्ट्रीम के है वे इस सब्जेक्ट से कॉलेज में एडमिशन नहीं ले सकते हैं। यदि 12th में आपका परसेंटेज बहुत कम है तो आपको एडमिशन लेने के लिए थोड़ी दिक्कत हो सकती हैं। 

प्रयास करे कि थोड़ी आपकी अच्छी परसेंटेज जो 12th क्लास में तब आपको B.com कोर्स लेने में ज्यादा दिक्कत का सामना करना नहीं पड़ेगा।

B.com कोर्स कितने वर्ष का होता है?

B.com एक ग्रेजुवेशन कोर्स की डिग्री है। यह कोर्स 3 साल का होता है।

B.com में सब्जेक्ट ?

B.com एक टेक्निकल कोर्स है इसमें आपको अकाउंट मैनेजमेंट इकोनॉमिक्स जैसे विषयों पर स्टडी कराया जाता है। जिसके बाद आप बैंक व्यापार और अन्य कंपनियों में लेखा जोखा अकांउटन जैसे काम कर सकते हैं नीचे कुछ सब्जेक्ट दिया गया है:

बिजनेस 

बिजनेस मैनेजमेंट

इकोनॉमिक्स

बिज़नेस मैथमेटिक्स

फाइनेंशियल ratios

कंप्यूटर फंडामेंटल

फाइनेंशियल अकाउंटिंग

कॉर्पोरेट अकाउंटिंग

Cost अकाउंटिंग

बैंकिंग 

Statics

B.com कोर्स फीस

B.com कोर्स के लिए फीस कितनी लग सकती है यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप गवर्मेंट कॉलेज से यह कोर्स करना चाहते हैं या प्राइवेट कॉलेज से करना चाहते हैं। इन दोनों कॉलेज में फीस अलग अलग होती है - 

गोर्वमेंट कॉलेज: जैसा कि मैने पहले बताया की B com एक टेक्निकल कोर्स है इसके लिए आप चाहें तो कॉलेज के साथ साथ आप यदि कोचिंग या प्रोग्रामिंग क्लास ज्वाइन करते हैं,तो आपको 8 - 10 हजार प्रतिवर्ष लग सकता है।

प्राइवेट कॉलेज: वहीं बात करे प्राइवेट कॉलेज की तुलना में प्राइवेट कॉलेज का फीस गेवर्मेंट कॉलेज के मुकाबले कुछ ज्यादा होता है। आपको 20 - 25 हजार प्रति सेमेस्टर लग सकता है।

B.com के लिए कुछ पॉपुलर कॉलेजेस

श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, दिल्ली

हिन्दू कॉलेज, दिल्ली

रामजस कॉलेज,दिल्ली

क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बंगलौर

गोयनका कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन,कोलकाता

St. स्टीफन कॉलेज,दिल्ली


पॉपुलर B.com कॉलेजेज फॉर करेस्पॉन्डेंस

ऐसे छात्र जो B com कोर्स रेगुलर mode में नहीं कर पाते हैं  इस कोर्स को करेस्पॉन्डेंस mode में कर सकते हैं। इस तरीके के लिए कुछ विश्वविद्यालय पेश करते हैं कुछ के नाम मैंने नीचे बताया है।

बंगलौर यूनिवर्सिटी

अन्नामलाई यूनिवर्सिटी

इलाहाबाद यूनवर्सिटी

इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU)

जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय

स्कूल ऑफ लियरनिंग यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली


What is the scope of B.com in future?

B.com कोर्स की फ्यूचर में क्या स्कोप है, काफी सारे लोगो को इस चीज को लेकर डाउट में रहते हैं कि उनका भविष्य क्या होगा?

आइए आज मै आपका इस संदेह को दूर कर देता हूं। वैसे मै आपको बता दूं कि इस क्षेत्र में जॉब के लिए बहुत से ऑप्शन और जॉब के लिए कॉम्पिटिशन बहुत कम है। 

यह इस लिए क्योंकि सबसे ज्यादा स्टूडेंट साइंस क्षेत्र में पढ़ना पसंद करते है इस वजह से साइंस के क्षेत्र में जॉब कॉम्पिटिशन बढ़ रहा है। 

Post a Comment

0 Comments